No Picture
Hindi / Hindustani Verses

प्यार की राह पर चलना अजी आसान नहीं (गीत)

January 23, 2018 सुभाष नाईक 0

प्यार की राह पर चलना अजी आसान नहीं प्यार ही अमृत मधुर है , ज़हर भी है प्यार ही   ।   सनम  गर मिल गया तो  ज़ीस्त में खिलती  ख़ुशी स्वर्ग को दिल स्पर्श करता […]

No Picture
Hindi / Hindustani Verses

क्या इसीलिये आज़ादी हमने पाई ?

चूर हुई तस्वीरे वतन जो मुद्दत से सँजोई ! क्या इसीलिये आज़ादी हमने पाई ? टूट गया वो ख़्वाब, बसा जो दिल की गहराई में निकला चोटीतक चढ़ने, पर गिरा वतन खाई में खुशियोंभरी सुबह […]

No Picture
Hindi / Hindustani Verses

कर दिया मुझे दुनिया ने लहूलुहान *

मौत मुझे दे , ले ले मेरी जान , भगवन्, अल्ला कर दिया मुझे दुनिया ने लहूलुहान , भगवन्, अल्ला । मेरी सीधी बातें सुनके छा जाती खामोशी सीधासादा मैं क्या जानूँ क्या है नकाबपोशी? […]

No Picture
Hindi / Hindustani Verses

जुनून

इन्सान ये जुनून क्यों कम नहीं पाता ? दो मज़हबों का खून क्यों थम नहीं पाता ? अबतलक दोनों तरफ थी बेदिली थी बेरुखी एक पल में आग बरसी, फट पड़ा ज्वालामुखी तकता जहाँ गुमसुम […]

No Picture
Hindi / Hindustani Verses

एक और भोपाल

भोपाल की एक फैक्टरी । जानकार कहते थे कि किसी भी वक्त वहाँ हादसा हो सकता है । मगर किसीने ध्यान ही नहीं दिया । और एक दिन वहाँ बहुत सारी विषैली गैस लीक हुई […]

No Picture
Hindi / Hindustani Verses

धरा मैं माँ तुम्हारी

धरा मैं माँ तुम्हारी , जरा सम्मान करो चमन से मैल मिटा दो, स्वर्ग के रंग भरो । घुटे तालाब नदियाँ , रो रही गंगा पावन टनों कूड़े-करकट से जानपर है आई बन उदक है […]

No Picture
Hindi / Hindustani Verses

चाहे कहो लल्ला या चाहे रामलल्ला

चाहे कहो अल्ला या चाहे रामलल्ला काहेको शोरशराबा, क्यूँकर हल्लागुल्ला ? मंदिर था मस्जद थी, झगड़ा क्यों भाई ? खत्म हुई एक सदी, नई सदी आई रात गई बात गई, सूर्य नया निकला । फर्क […]

No Picture
Hindi / Hindustani Verses

जुदाई

(सदमा सहचारिणी का) यूँ जुदाई से मिलेंगे, ये कभी सोचा न था दर्द के तूफाँ चलेंगे, ये कभी सोचा न था । ख्वाबगाहे आँख में सपने बसे लाखों हसीं अश्क यूँ यल्गार करेंगे, ये कभी […]

No Picture
Hindi / Hindustani Verses

आँसू फूल बने

यादों में आँसू फूल बने पर तुम क्यों धूल बने? दोस्ती है नदिया, इक तट हम तुम दूजे कूल बने । तुम से परिचय के कारण ही हम भी माकूल बने । तुम्हरे बिन हम […]

No Picture
Hindi / Hindustani Verses

क्यूँकर?

हाथ पेशानी पे इतनी बार क्यूँकर ? हाय ! मैं जंदा तेरे बिन, यार, क्यूँकर ? चाह थी बस, शाम सेहतमंद होवे दोपहर ही लाइलाज आजार क्यूँकर ? जिंदगी-चक्रव्यूह भेदा, यश है तेरा जीत से […]